Thursday, September 6, 2018

MAA KALINKA CHAMTKARI DOLI BATKHEM TEHRI GARHWAL UTTARAKHAND

हेलो दोस्तों ,
                 आज  मैं आप सब को बताने वाला हूँ सिद्धपीठ  माँ कालिंका के डोली स्वरूप के बारे में जहाँ माँ स्वयं डोली रूप में विध्यमान होकर भक्तों के दुःख दूर करती है। यह पवित्र स्थान उत्तराखण्ड राज्य के टिहरी जिले में बटखेम  गावं में स्थित  है। जहाँ माँ प्रत्येक रविवार डोली रूप में भक्तों को दर्शन देती है तथा उनकी मनोकामनाएं और कस्ट दूर करती है।  माँ कालिंका के बारे में मान्यता है की कोई भक्त तभी माँ के दरबार में आ सकता है जब उस भक्त के लिए माँ का बुलावा आये।  
            इस स्थान में माँ के जो भक्त हैं जिन पर माता अवतरित होती है वह अपने हाथ में चावल के दानो पर गंगाजल और दूध की मदद से हरियाली भी जमा देते हैं।  निःसंतान लोग माँ के मंदिर में सन्तान प्राप्ति के लिए तथा लोग तरह तरह के क्स्टों के निवारण हेतु माँ के माँ के दरबार में जाते हैं।   
  


माँ कालिंका मंदिर  बटखेम 






माँ  कालिंका डोली 

       


माँ कालिंका नृत्य                                                                                                                                         





1 comment: